रायबरेली- भूखे प्यासे राहगीरों के लिए भगवान बने सोनू उर्फ सुखविंदर

लालगंज (रायबरेली)क्षेत्र-मुश्किल में अगर कोई साथ दे दे तो भगवान नजर आता और मिल जाए खाना तो खाना खिलाने वाला है भगवान की शक्ल में नजर आता है जी हां ऐसा ही लाकडाउन के दौरान कानपुर से अपने घर पैदल वापस पहुंचते राहगीरों के लिए भगवान बने सोनू  भूखे प्यासे बिलक रहे राहगीरों को पेट भर खाना और पानी पिलाकर जो पुण्य का काम किया इससें बडा काम कुछ भी नहीं कानपुर से पैदल यात्रा कर महराजगंज के निकले राहगीर आधा दर्जन लोग अपनी रोटी रोजी छोड़कर संकट के समय पैदल ही अपने घर की ओर निकल पड़े।लालगंज कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत नेशनल हाईवे 232 पर पैदल यात्रा करते हुए लोगों की मुलाकात ग्राम पंचायत मधुकरपुर निवासी सोनू से हुई यात्रियों ने जिनसे अपना पूरा वाकया बयां किया कि इस संकट के समय मेरे पास न तो पैसे भोजन करने के लिए के मुझे खाना और पानी मिल जाता तो आप से बड़ा कोई भगवान और कोई नहीं होता  राहगीरों की बात सुनकर तत्काल खाने पीने की व्यवस्था कराई इस मामले पर जब सोनू से हमने बात की तो उन्होंने बताया कि लोगों की मदद करना और देश की सेवा करना हमारे परिवार की सदीयों पुरानी परंपरा है।देश की आजादी से पहले हमारे बाबा पूरन सिंह फौज में रहकर देश की सेवा की और वर्तमान समय में हमारे बड़े भाई महेंद्रपाल जो सीआरपीएफ में तैनात अपने परिवार को छोड़कर देश की सेवा कर रहे उन्हीं के हम छोटे भाई भूखे प्यासे राहगीरों की मदद करना हम लोगों का एक शौक बन गया भगवान का आशीर्वाद है।कि हमलोगों की मदद करते है।