लखनऊ:कोरोना वायरस की दहशत के बीच उप-मुख्यमंत्री ने मूल्याकंन केन्द्रो में शिक्षको से मुलाकत की

लखनऊ। कोरोना वायरस की दहशत के बीच राजधानी लखनऊ के मूल्यांकन केन्द्रो पर उप-मुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा एवं शिक्षाधिकारीयो द्वारा दिए गए आश्वासनों के अनुसार मूल्यांकन केन्द्रो की सुविधाओं के सम्बन्ध मे जानकारी प्राप्त करने सगठन के प्रदेशीय मंत्री डा0 आर0 पी0 मिश्र एवं जिलाध्यक्ष डा0 आर0 के0 त्रिवेदी के साथ प्रतिनिधि मण्डल ने राजकीय जुबली इ0 कालेज, राजकीय हुसैनाबाद इ0 कालेज एवं अमीनाबाद इ0 कालेज मूल्याकंन केन्द्रो में शिक्षको से मुलाकत की। मूल्यांकन केन्द्रो पर उपस्थित शिक्षको ने प्रमुख सचिव के आदेशो के अनुसार व्यवस्थाएॅ नही होने पर अपना आक्रोश व्यक्त किया और मूल्यांकन 10 दिन बढाने पर बल दिया।’ ’प्रतिनिधि मण्डल मे प्रदेशीय मंत्री डा0 आर0 पी0 मिश्र, जिलाध्यक्ष डा0 आर0 के0 त्रिवेदी के अलावा प्रदेशीय मंत्री नरेन्द्र कुमार वर्मा, सदस्य राज्य परिषद अनुराग मिश्र पूर्व अध्यक्ष एस0 के0 एस0 राठौर, जिला मंत्री अरूण कुमार अवस्थी ,काषोध्यक्ष महेश चन्द्र, अनिल शर्मा, डा0 एस0 के0 मणि शुक्ल, सुमन लता, मीता श्रीवस्तव, मन्जू चैधरी, डा0 दिव्या श्रीवास्तव, मनोरमा इन्दू, रजनेश शुक्ल, आर0 पी0 सिंह सम्मिलित थे।’’जिलाध्यक्ष डा0 आर0 के0 त्रिवेदी एवं जिला मंत्री अरूण कुमार अवस्थी ने बताया कि राजकीय जुबली इ0 कालेज मे शिक्षको के विरोध की सूचना पाकर प्रतिनिधि मण्डल के साथ डा0 आर0 पी0 मिश्र ने वहॅा पहुॅच कर शिक्षको से तथा जिला विद्यालय निरीक्षक डा0 मुकेश कुमार सिंह से वार्ता की। जि0 वि0 नि0 डा0 सिंह ने आश्वस्त किया कि कल तक मूल्याकंन केन्द्रो मे एक कक्ष मे 20 परीक्षको के बठैने की व्यवस्था के साथ ही अन्य कमियों को भी दूर कराया जाएगा। ’शिक्षक नेताओ ने कहा कि यदि मानक के अनुसार मूल्यांकन केन्द्रो पर सुविधाएॅ उपलब्ध नही कराई गई तो शिक्षक मूल्याकंन मे असहयोग के लिए विवश होगे।’