कमलनाथ का लेटर बम, लिखा जब तक विधायक बंधक, फ्लोर टेस्ट का औचित्य नहीं, भाजपा पहुंचीं सुको

भोपाल, 16 मार्च। मध्यप्रदेश विधानसभा में आज सत्र शुरू होते ही सभी को उस पल का इंतजार था जब फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया शुरू हो और कौन सी पार्टी बहुमत मेंं है यह साबित हो। लेकिन सत्र की शुरूआत में राज्यपाल लालजी टंडन का अभिभाषण होने के पश्चात सदन में हंंगामा शुरू हो गया। इस शोर-शराबे के बीच अचानक विधानसभा स्पीकर एन.पी. प्रजापति ने घोषणा करते हुए कहा कि विधानसभा सत्र आगामी 26 मार्च तक के लिए स्थगित की जाती है। अचानक सत्र के स्थगन आदेश की घोषणा से हंगामा और तेज हो गया।