कानपुर देहात-अधिक मूल्य पर सामान्य बेचने में दुकानदार पर दर्ज हुई एफ आई आर

पुखरायां कानपुर देहात। वैश्विक महामारी को रोकने की दिशा में उठाए गए लॉक डाउन का जहां और पूरे देश में अनुपालन किया जा रहा है वही संकट की इस घड़ी में कुछ मुनाफाखोर अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहे हैं। इसी क्रम में जिला पूर्ति अधिकारी में शिकायतकर्ता हरिशंकर अग्निहोत्री पुत्र भूरा प्रसाद निवासी कृष्णा नगर मंडी समिति पुखराया द्वारा स्वयं थाने पर आकर सूचना दी गई की दुकानदार राजकुमार पुत्र स्व. रामशंकर ओमर जिसकी की दुकान कृष्णा नगर मंडी समिति में स्थित है। उसके द्वारा अपनी किराना की दुकान पर निर्धारित दरों से अधिक मूल्य पर चीनी व कानपुर देहात को शिकायतकर्ता ने इससे संबंधित सूचना प्रेषित करने के साथ भोगनीपुर कोतवाली दाल बेची जा रही है। शिकायतकर्ता द्वारा लिखित उपलब्ध कराई गई सूचना में संबंधित दुकानदार पर कार्यवाही करने का अनुरोध किया गया। जिसके अनुपालन में जिला पूर्ति अधिकारी के निर्देश पर मौके पर पूर्ति निरीक्षक सुमालिका सक्सेना द्वारा अपनी टीम संग जांच की गई। जिस पर उक्त शिकायत को सत्य पाया गया। जांच के दौरान स्वयं शिकायतकर्ता ने पूरा घटनाक्रम बताते हुए कहा कि वह अपने घर का सामान खरीदने पड़ोस में ही स्थित राजकुमार किराना स्टोर पर गया था। जहां 1 किलोग्राम चीनी तथा 1 किलोग्राम अरहर की दाल मांगी। जिस पर दुकानदार द्वारा वास्तविक मूल से अधिक मूल्य लगाते हुए चीनी रू55 किलो अरहर की दाल रू115 किलोग्राम रेट पर दी गई। मौके पर ही उपस्थित अन्य उपभोक्ताओं को भी इसी दरों पर सामान बेचा जा रहा था। जिस पर संबंधित अधिकारी ने वर्तमान स्थितियों में मुनाफाखोरी का कार्य किए जाने पर एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1987 की धारा 234 उत्तर प्रदेश महामारी कोविड19 विनियमावली 2020 में नए प्रावधानों के अंतर्गत आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 3ध्7 के अंतर्गत दंडनीय अपराध घोषित करते हुए प्राथमिक सूचना दर्ज कराई। वही पूर्ति विभाग के अधिकारियों द्वारा आम जनमानस से अपील की गई है कि अगर कोई भी दुकानदार निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर उन्हें सामान विक्रीत करता है तो संबंधित के खिलाफ उन्हें तुरंत सूचना उपलब्ध कराएं और इसी के साथ ही साथ उन्होंने दुकानदारों से भी कहा है कि उचित दर व उचित मूल्य पर ही लोगों को सामान उपलब्ध कराएं। यदि आपके यहां सामान की उपलब्धता कम है और मांग ज्यादा है तो उतना ही स्टॉक क्लियर कर लोगों से आगे के लिए सामान ना होने की बात बताएं। हालांकि जिला प्रशासन द्वारा संपूर्ण जनपद में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति कराने का कार्य लगातार कराया जा रहा है। इस विषय में स्वयं जिलाधिकारी महोदय तथा पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा आदेश निर्गत किया गया है कि जनपद में बाहर से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति लेकर आने वाले वाहनों को ना तो सीमा पर रोका जाए और ना ही जनपद के अंदर उनके परिचालन को बाधित किया जाए। कुल मिलाकर प्रशासन द्वारा यह कड़े शब्दों में संदेश दिया गया कि वर्तमान परिस्थितियों में जनहित में सभी लोग एक दूसरे का सहयोग करें और समस्त दुकानदार या व्यापारी वर्ग निर्धारित मूल्य पर ही आम जनमानस को सामान उपलब्ध कराएं। मुनाफाखोरी की शिकायत मिलने पर संबंधित के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की जाएगी।