जालौन:गर्मी के दस्तक देते ही वार्ड में पानी का संकट

उरई जालौन। गर्मी के दस्तक देते ही कदौरा गांव में पेयजल संकट गहराने लगा है, आश्चर्य तो इस बात का है कि एक वर्ष पूर्व जल निगम ने यहां पर नलकूप बनाया गया था, पर ट्रांसफार्मर न लगने से नलकूप बेमतलब है। जिससे नलकूप होने के बाद भी लोगों को पेयजल के लिए भटकना पड़ता है। आलम यह है कि नगर के आधा दर्जन वार्डों में पेयजल के लिए बाशिंदे टैंकर व एक-दो किलोमीटर दूर से पानी की आपूर्ति करने के लिए मजबूर है। बुधवार को मोहल्ला पुराना बाजार व ईदगाह के बाशिंदों ने शिकायत सीएम पोर्टल में दर्ज कराकर निजात दिलाने की मांग की। गौरतलब है कि नगर के वार्ड 12 में चार मोहल्ले कटरा अस्तबल, पुराना बाजार, धोबीपुरा व ईदगाह आते हैं। जिसमें पिछले कई वर्षों से पेयजल की किल्लत है। कई बार बाशिंदे पानी की मांग को लेकर सड़कों पर उतर चुके है। वार्ड में पेयजल किल्लत को देखते हुए एक वर्ष पूर्व जल निगम ने मोहल्ला ईदगाह में नलकूप का निर्माण कराया था, लेकिन लगभग एक वर्ष बीतने के बाद अब तक नलकूप में ट्रांसफार्मर न होने के कारण पानी आपूर्ति नहीं हो पा रही है, इससे मोहल्ले के लोगों को अभी भी पेयजल संकट से जूझना पड़ रहा है। मोहल्ला ईदगाह के बकरीदा, अब्बास, आसिफ, राम अवतार, सुगम सिंह, संतोष कुमार, रामनाथ, जमील, इदरीश आदि ने बताया कि वैसे तो साल भर मोहल्लों में पानी संकट बना रहता है, लेकिन गर्मी शुरू होते ही पानी की किल्लत और बढ़ जाती है। जबकि कई बार जल संस्थान व जल निगम से पेयजल संकट से निजात दिलाने की गुहार लगा चुके है, लेकिन कोई समाधान नहीं निकला है। मोहल्लों में स्थिति यह है कि कभी कभी लोग टैंकर से पानी की सप्लाई करते है। कहने को तो वार्ड में करीब 18 हैंडपंप लगे हैं, लेकिन इनसें से करीब 12 हैंडपंप खराब पड़े हैं और जो हैंडपंप ठीक हैं, उनमें इतनी भीड़ लगी रहती है कि सुबह से ही नंबर लगाना पड़ता है। सभासद मो. इमरान कहते हैं कि नलकूप में ट्रांसफार्मर लगवाने के लिए कई बार नगर पंचायत कार्यालय से लेकर तहसील दिवस व जिलाधिकारी से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है। नलकूप में ट्रांसफार्मर रख जाएं तो चार वार्डों में पानी की सुविधा हो जाएगी। उधर, ईओ पालिका सुनील कुमार सिंह का कहना है कि मामला संज्ञान में है। वार्डों में छोटी पानी की टंकियां बनवाई गई हैं, जल्द ही नलकूप में ट्रांसफार्मर भी रखवाया जाएगा। इसके लिए अपर जिलाधिकारी को पत्र भेजा गया है।