दस्तावेजों की पंजीयन फीस 31 मार्च तक जमा करने पर वर्ष 2021 की दरें प्रभावी नहीं होगी

प्रदेश में नोवल कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिये सभी उप पंजीयक कार्यालयों में पंजीयन कार्य के लिये पक्षकारों की उपस्थिति बॉयोमैट्रिक, सत्यापन, अंगूठा और हस्ताक्षर आदि की कार्यवाही को 31 मार्च तक बंद रखने का निर्णय लिया गया है। पंजीयन महानिरीक्षक यह जानकारी देते हुए बताया है कि दस्तावेजों का पंजीयन कराने के लिये देय पंजीयन फीस 31 मार्च, 2020 तक रात्रि 12 बजे के पहले तक जमा कराने पर आगामी वित्तीय वर्ष 2020-21 की दरें प्रभावी नहीं होंगी। साथ ही संपत्ति का मूल्यांकन, स्टॉम्प शुल्क, पंजीयन शुल्क, उपकर तथा अन्य अतिरिक्त आदि वित्तीय वर्ष 2019-20 के अनुरूप ही मान्य होंगे।