फेडरेशन एवं इथियोपियाई दूतावास का भोपाल में बिजनेस फोरम का आयोजन सम्पन्न

इथियोपिया ने म.प्र. के निवेशकों के लिये द्वारा खोले  
जल्द ही फेडरेशन नेतृत्व मंे एक व्यापारिक दल इथियोपिया जायेगा
भोपाल। इथियोपिया मध्यप्रदेश के उद्योगों का गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए तैयार है। इथियोपिया एक ऐसा देश है, जिसकी एक समृद्ध संस्कृति, इतिहास और विविधता है। अब यह तेजी से आर्थिक विकास के लिए तैयार है और इथियोपिया में निवेश करने के इच्छुक उद्योगों को तरह-तरह की सहूलियतें, सहायता और प्रोत्साहन देता है। यह बात आज डाॅ. टिजिटा मुलुगेटा ने भोपाल के प्रमुख उद्योगपतियांे को फेडरेशन आॅफ मध्यप्रदेश चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज और इथियोपिया का दूतावास द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक बिजनेस फोरम में कही । 


उन्होंने कहा, कि ‘‘इथियोपिया में एक स्थिर और लोकतांत्रिक सरकार है, यहां बुनियादी ढांचे में सुधार हुआ है और यह दुनिया में तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इथियोपिया तेजी से दुनिया भर के व्यवसाइयों और निवेशकों के लिए एक पसंदीदा जगह बन रहा है। मौजूदा  सरकार के शांति और सुधार कार्यक्रमों तथा निवेश के विभिन्न प्रोत्साहन और निर्यातोन्मुखी उद्योगों को नये अवसर मिल रहे है। मध्यप्रदेश के निवेशकों को इसका लाभ उठाना चाहिए हम उनका स्वागत करते है। 


राज्य के निवेशकों को आमंत्रित करते हुए उन्होंने आगे कहा आज इथियोपिया में 500 से अधिक भारतीय कंपनियां हैं, जिन्होंने 4 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक का निवेश किया है जिसमें से एक अनुमान के अनुसार 2 बिलियन डाॅलर धरातल पर आ चुका है। भारतीय कंपनियों ने विभिन्न क्षेत्रों में निवेश किया है जैसे, कृषि और फूलों की खेती, इंजीनियरिंग, प्लास्टिक, विनिर्माण, कपास और वस्त्र, जल प्रबंधन, संचार और प्रौद्योगिकी, शिक्षा, फार्मास्यूटिकल्स और स्वास्थ्य सेवायें आदि।
 
डाॅ. मुलगेटा ने फेडरेशन के सदस्यों से उद्योगपतियों के एक व्यापार प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया और कहा कि इथियोपिया सरकार निवेशकों को हर संभव समर्थन देगी। राज्य के प्रमुख उद्योगपतियों और फेडरेशन के सदस्यों: श्री अनिल चावला, श्री राजीव जैन, श्री आकाश पेठिया,. अकुर गुप्ता, मिहिर एस मर्चेंट,आयुष गोस्वामी,अजीत कुकरेजा सहित फेडरेशन के सदस्यों ने राजनयिक के साथ इथियोपिया के साथ व्यापार-संबंधों को बढ़ानें और निवेश संबंधी विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।


इससे पहले अपने स्वागत भाषण में फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ. आर.एस. गोस्वामी ने कहा, “इथियोपिया जैसा देश प्राकृतिक संसाधनों और विभिन्न संसाधनों से समृद्ध है। यह इथियोपिया जैसे नये क्षेत्रों में निवेश करने का एक उपयुक्त समय है। एक व्यापार दल अपै्रल माह मंे इथियोपिया जायेगा। डेमेस्वे केबेडे टेकलं, काउंसलर (मंत्री) ने अपनी प्रस्तुति में कहा ‘‘इथियोपिया चमड़े और चमड़े के उत्पादों, धातु उद्योग, फार्मास्यूटिकल्स, कपड़ा उद्योग, कृषि प्रसंस्करण के अलावा अन्य क्षेत्रों में विनिर्माण और निवेश के अवसर प्रदान करता है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार कॉर्पोरेट आय में 10 साल तक की आयकर से छूट देती है इसी प्रकार किसी औद्योगिक पार्क में फार्मा निर्माताओं को निवेश करने के लिए कॉर्पोरेट आयकर में 14 साल तक की छूट प्रदान करती हैं। यह छूट पार्क के स्थान के आधार पर दी जाती है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक पार्कों के विकास के लिए 10-15 साल की आयकर में भी छूट निवेशकों को दी जाती है। निर्यात शुल्क में छूट लगभग सभी उत्पादों के निर्माण पर दी जाती है। निवेश की जरूरतों के हिसाब से अचल संपत्ति का मालिकाना हक, संपत्ति के अधिकार की संवैधानिक गारंटी आदि भी इथियोपियन सरकार देती है।


डाॅ. मुलगेटा ने कहा कि जहां तक राजनीतिक स्थिरता और शांति का सवाल है हमारे प्रधानमंत्री अबी अहमद को 2019 में नोबल शांति पुरस्कार दिया गया है यह क्षेत्र शांतिपूर्ण और राजनीतिक रूप से स्थिर है। फेडरेशन के सदस्य श्री उत्तम गंगुली ने धन्यवाद प्रस्ताव दिया.