निलंबित कर्मचारी को किया जाएगा सार्वजनिक रूप से अपमानित: जिला शिक्षा अधिकारी

जिला शिक्षा अधिकारी ग्वालियर ने जारी किया तुगलकी फरमान
जिला कलेक्टर के निर्देश का दिया हवाला 
संघ ने की आदेश को वापस लेने की की मांग


भोपाल। मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के महामंत्री लक्ष्मीनारायण शर्मा ने जिला शिक्षा अधिकारी ग्वालियर द्वारा जारी किए गए तुगलकी फरमान का विरोध कर इसे तुरंत वापस लेने की मांग की है। 22 फरवरी को जिला शिक्षा अधिकारी ग्वालियर ने जिला कलेक्टर ग्वालियर के निर्देशों का हवाला देते हुए सभी प्राचार्य एवं अन्य संबंधित को एक पत्र जारी किया है जिसमें लेख किया है कि यदि आपके विद्यालय अथवा कार्यालय में कोई शिक्षक निलंबित होता है तो उस शिक्षक के निलंबन मुख्यालय पर उसके बैठने हेतु एक स्थान निर्धारित किया जाए और उस पर लिखा जाए कि ''निलंबित कर्मचारी के बैठने का स्थान'' और उसके फोटो खींचकर व्हाट्सएप ग्रुप पर भेजे जाएं। मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के महामंत्री लक्ष्मीनारायण शर्मा ने इसे शिक्षकों का अपमान बताया है और ऐसे तुगलकी फरमान की घोर निंदा करते हुए तुरंत वापस लेने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि इस संबंध में शीघ्र कोई कार्यवाही नहीं की गई तो प्रदेश के सभी शिक्षक एवं मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ इस फरमान को वापस लेने की मांग को लेकर व्यापक आंदोलन करेगा।