लखनऊ:मुख्यमंत्री ने कहा, हमारी सरकार द्वारा पेश बजट प्रदेश के विकास को गति प्रदान करने वाला है

लखनऊ। विपक्षी हंगामे के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा में अपना बजट भाषण पढ़ा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार द्वारा पेश बजट प्रदेश के विकास को गति प्रदान करने वाला और युवाओं को नई ऊर्जा देने वाला है। सीएम योगी ने कहा, सही मायने यह बजट सबका साथ सबका विश्वास की धारणा को पूरा करने वाला है। सीएम योगी ने कहा कि पिछले तीन वर्ष के कार्यकाल को देखकर कोई भी यह नहीं कह सकता कि हमारी सरकार ने जाति-मजहब के आधार पर कार्य किया है। हमारी सरकार का पहला किसानों को समर्पित किया था। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार ने किसानों के लिए सबसे सफलतम योजना लागू की है। जिससे किसानों को कर्ज देने के साथ ही सिंचाई, समर्थन मूल्य जैसे कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। हमने प्रदेश की 3 लाख हेक्टेयर भूमि को सिंचित बनाया। हमने पुलिस और पीएसी की क्षमता को बढ़ाया। पुलिस आधुनिकीकरण के लिए इस बार के बजट में काफी ध्यान दिया गया है। सीएम योगी ने कहा, बजट में ग्रामीण अर्थव्यवस्था बढ़ाने के लिए भी कई प्रावधान किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमसे पहले की सरकारों में एक नकारात्मकता थी। इन पार्टियों के नेताओं की संकीर्ण सोच ने पूरे प्रदेश को जकड़ रखा गया था। जिसके कारण सड.कें नहीं थी। प्रदेश का किसान, नौजवान बदहाल था। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश की सत्ता पर 12, 15 वर्षों तक काबित रहे लोग आज किसानों की बदहाली की चर्चा कर रहे हैं। जबकि उनकी सरकार में रहते हुए इन लोगों ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया। 20 वर्षो से गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हुआ था। मंडी के हालात खराब थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे राजनीतिक दलों पर हमें हंसी आती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 20 वर्षों में प्रदेश की सरकारें निर्णय नहीं ले पाईं कि जेवर में एअरपोर्ट बनेगा या नहीं। तीन वर्ष के अंदर हमारी सरकार ने निर्णय ले लिया कि जेवर में एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनेगा। जिसके लिए बजट भी जारी कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने सपा की ओर इशारा करते हुए कहा, जेवर वही क्षेत्र है, जहां पर आपकी सरकार में मानवता को शर्मशार करने वाली घटना घटी। मुख्यमंत्री ने कहा, गरीब के बच्चे को यूनिफॉर्म के साथ जूता-मोजा और स्वेटर मिलना चाहिए था। लेकिन आप ने सोचा कि गरीब का बच्चा पढ़ लेगा तो आपका सिंघासन डोल जायेगा। हम विकास की बात करते हैं और ये सिर्फ जाति की बात करते हैं। हमारा संकल्प होना चाहिए कोई बच्चा शिक्षा से वंचित न हो जाये।