खेती में अत्यधिक रासायनिक खाद और कीटनाशकों का उपयोग घातक: कृषि मंत्री
खरगोन। प्रदेश के कृषि, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री सचिन सुभाष यादव ने गुरूवार को भगवानपुरा और सेगांव तहसील में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के कार्यक्रम में कहा कि सरकार को जो भी वक्त मिला है इस पूरे समय में किसानों और गरीबों के हितों की परवाह की है। उसी का परिणाम है कि आज हम प्रथम चरण में 20 लाख से अधिक किसानों के फसल ऋण माफ कर चुके है। सरकार ने जो लक्ष्य तय किया है उसमें अब तक  कई लक्ष्य पूरे कर चुके है। चुनौतियां कम नही है है फिर भी फसल ऋण माफ करने का लक्ष्य तय किया था। वो भी पूरा होने को है द्वितीय चरण में किसानों के ऋण माफ किए जा रहे हंै। हमने तय किया था कि किसानों के लिए फिर से बैंक और सहकारी संस्थाएं ऋण उपलब्ध कराएं, अब बैंक किसानों को ऋण देने लगी है। इस कार्यक्रम में कृषि मंत्री श्री यादव ने मंच से सांकेतिक तौर पर करीब 30 किसानों को ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र वितरित किए। जबकि अन्य किसानों के लिए संस्थावार व बैंकवार स्टॉल बनाए गए थे। इन स्टॉलों से किसानों ने अपने-अपने ऋणमुक्ति प्रमाण पत्र प्राप्त किए। कार्यक्रम के स्वागत संबोधन में कृषि उप संचालक एमएल चौहान ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष कमला केदार डावर, कृषि संयुक्त संचालक आरएस सिसोदिया, कलेक्टर  गोपालचंद्र डाडए पुलिस अधीक्षक  सुनील पांडेय, जिला पंचायत सीईओ डीएस रणदाए एसडीएम अभिषेक गेहलोत सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।