जीडीपी आंकडे पिछले सात सालों में सबसे कम हैं - कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता और प्रवक्ता आनंद शर्मा ने दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन कहा कि जीडीपी के तीसरे क्वार्टर के आंकड़े सामने आए हैं। हमेशा जो तीसरी तिमाही के जीडीपी के आंकड़े होते हैं वो सबसे मजबूत होते हैं। क्योंकि खरीफ की फसल के बाद और इस बार अच्छी फसल हुई। दूसरा जो त्योहार का समय रहता है, पर्वों का, जिसमें खपत भी होती है, मांग भी बढ़ती है, बिक्री भी बढ़ती है, इसलिए पिछले दशकों से इस तिमाही का, इस क्वार्टर का जीड़ीपी सबसे ऊपर रहता है। पर ये 7 साल का सबसे कम रहा, 7 वर्ष का।


निरंतर सात क्वार्टर में जीडीपी गिरती जा रही है। ये एक चिंता का विषय है। हालांकि आंकड़ा 4.7 का है, पर नॉमिनल जीडीपी मुद्रा स्फीति इन्फ्लेशन फैक्टर इन होती है, वो 7.7 है। हमेशा वो डबल डिजिट में रहती थी। पिछली बार भी सिंगल डिजिट में रही, इस बार भी सिंगल डिजिट में है, शायद दशकों में ऐसा नहीं हुआ जो निरंतर हो रहा है। इससे ये स्पष्ट है कि सरकार के दावों के बावजूद और एक ऐसा बजट जो दिशा विहीन है।


जिसमें किसी भी तरह के कोई ऐसे प्रोत्साहन नहीं मिलते, ना निवेशक को, ना उत्पादक को, इसलिए उस बजट में जो भी सरकार ने कहा, जो वित्त मंत्री कहती हैं, उसके बावजूद निरंतर गिरावट है। हम सरकार के इस कल के दावे को खारिज करते हैं कि अब ये जो सबसे बड़ी गिरावट आ रही थी भारत की इक्नॉमी में, अब वो बॉटम आउट हो रही है, खत्म हो रही है और अब आगे हमने बढ़ना शुरु किया।