हिमाचली रीति-रिवाज से शादी के बंधन में बंधे जेपी नड्डा के बेटे गिरीश

बीजेपी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के बड़े बेटे गिरीश नड्डा मंगलवार देर रात परिणय सूत्र में बंध गए। गिरीश नड्डा ने राजस्थान के पुष्कर में प्राची संग लिए सात फेरे। हिमाचल के बिलासपुर में पैतृक निवास में वधु प्रवेश 28 फरवरी को होगा। वहीं, 29 फरवरी को हिमाचल धाम का आयोजन होगा। इसमें प्रदेश के सीएम जयराम ठाकुर समेत अन्‍य नेताओं के शामिल होने की उम्‍मीद है। हिमाचल में धाम के बाद 6 मार्च को दिल्ली में रिसेप्‍शन हो सकती है, जिसमें केंद्रीय दिग्‍गज नेता शामिल होंगे।


गिरीश नड्डा ने राजस्थान के हनुमानगढ़ के रहने वाले कारोबारी अजय ज्याणी की पुत्री प्राची के साथ सात फेरे लिए। राजस्थान के पुष्कर से मंगलवार शाम पास ही स्थित गुलाब बाग पैलेस के लिए गिरीश की बरात निकली। गिरीश हाथी पर सवार थे। उसके बाद गुलाब बाग पैलेस में मध्यरात्रि पाणिग्रहण संस्कार व विवाह की रस्में पूरी की गईं।


वहीं नड्डा परिवार व सगे संबंधी दो से तीन दिन पहले ही पुष्‍कर के लिए रवाना हो गए थे। जेपी नड्डा और उनकी पत्नी मल्लिका नड्डा के अलावा देशभर से आए परिवारिक मित्रों ने हिमाचली रीति-रिवाज के तहत गिरीश की सेहराबंदी की। शादी समारोह में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, पूर्व मंत्री राजीव प्रताप रूड़ी भी पहुंचे थे।


बताया जा रहा है कि बुधवार सुबह वर-वधु के साथ जेपी नड्डा और परिवार के लोग बिलासपुर के विजयपुर स्थित पैतृक आवास में लौट आए हैं। 28 फरवरी को सुबह वधू प्रवेश का कार्यक्रम रखा है। 29 फरवरी को धाम का आयोजन विजयपुर में ही किया जाएगा। नड्डा परिवार में नए मेहमान के आगमन के लिए खास तैयारियां चल रही हैं। बिलासपुर जिला प्रशासन और पुलिस ने जेपी नड्डा के 28 फरवरी के विजयपुर में आगमन को देख सुरक्षा प्रबंध पुख्ता किए हैं।