वन मंत्री श्री सिंघार से मिला रातापानी सेंचुरी अन्तर्गत ग्रामों का प्रतिनिधि-मंडल

वन मंत्री श्री उमंग सिंघार से रायसेन जिला पंचायत सदस्य श्री विनोद इरपाचे के नेतृत्व में 3 दर्जन से अधिक गाँव के प्रतिनिधि-मंडल ने मुलाकात की। श्री सिंघार ने प्रतिनिधि-मंडल को वन ग्रामों में सेंचुरी एरिया होने के कारण सड़क, पानी, बिजली की समस्याओं से निजात दिलाने का आश्वासन दिया। वन मंत्री ने मुख्य वन संरक्षक को ग्रामीणों की समस्याओं के निराकरण के लिये आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।


रातापानी सेंचुरी में 32 वन गाँव हैं। इनमें से 20 गाँव को कोर एरिया से बाहर कर दिया गया है। शेष 12 गाँव में से एक गाँव को विस्थापित किया गया है। ग्राम माधाड़, नीलगढ़ और घोनवानी को विस्थापित करने के लिये केन्द्र सरकार से बजट प्राप्त हो गया है और विस्थापन की प्रक्रिया प्रचलन में है। इन गाँवों को राजस्व ग्राम में परिवर्तित नहीं किया जा सकता। मुख्य वन संरक्षक ने जानकारी दी है कि वन ग्रामों में अधोसंरचना विकास के कार्य प्रक्रिया के अनुसार कराये जाएंगे।